Friday, April 12, 2024

मंदिर की जिम्मेदारी संभाल रहे राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट की ओर से आम जनता से एक अपील भी की गई है. हिंदू परिषद सेंटर की ओर से ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय का वीडियो जारी किया गया है, जिसमें उन्होंने कहा कि ‘आप लोगों से हाथ जोड़कर निवेदन है कि अयोध्या मत आओ.’

अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण शुरू होने की चर्चा जोरों पर है. अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक, अयोध्या में पांच अगस्त को भूमि पूजन का आयोजन होना है, जिसके बाद मंदिर की नींव रख दी जाएगी. नींव रखने के बाद मंदिर निर्माण का काम शुरू हो जाएगा. भूमि पूजन के लिए अयोध्या में तैयारियां जोरों पर है. यह आयोजन ऐसे वक्त में हो रहा है, जब देश में कोरोनावायरस की स्थिति अब तक की सबसे खराब स्थिति में है. ऐसे में यहां बहुत ही कम लोगों के इकट्ठा होने की संभावना है. जानकारी है कि नींव की ईंट खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रखने वाले हैं.

इस आयोजन में आम जनता प्रत्यक्षदर्शी नहीं बन पाएगी. वहीं, बुधवार को मंदिर की जिम्मेदारी संभाल रहे राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट की ओर से आम जनता से भूमि पूजन वाले दिन अयोध्या न आने की अपील की गई है. हिंदू परिषद सेंटर की ओर से ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय का वीडियो जारी किया गया है, जिसमें उन्होंने कहा कि ‘आप लोगों से हाथ जोड़कर निवेदन है कि अयोध्या मत आओ.’

चंपत राय ने कहा, ‘1984 में प्रारंभ हुए श्री राम जन्म भूमि मंदिर निर्माण आंदोलन में लाखों-करोड़ों राम भक्तों का प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष सहयोग प्राप्त हुआ है. उन सभी की यह स्वाभाविक इच्छा होगी कि वे इस भूमि पूजन के पवित्र ऐतिहासिक अवसर पर प्रत्यक्ष उपस्थित रहें. श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की भी ऐसी ही भावना थी, हमने ऐसा सोचा भी था. किंतु वर्तमान कोरोना महामारी के कारण उत्पन्न परिस्थिति में ऐसा करना असंभव है ,किंतु माननीय प्रधानमंत्री इस ऐतिहासिक प्रसंग पर अयोध्या आकर श्री राम जन्मभूमि मन्दिर निर्माण कार्य तीव्र गति से प्रारंभ करा दें, इसलिए भूमि पूजन आवश्यक है.’

उन्होंने आगे कहा, ‘श्री राम जन्मभूमि तीर्थ समिति सभी राम भक्तों से निवेदन करती है कि अयोध्या पहुंचने के लिए व्यग्र न हो , सभी लोग अपने स्थान से दूरदर्शन पर समारोह का सजीव प्रसारण देखें और सायंकाल अपने घर पर दीपक जलाकर दिव्य भव्य अवसर का स्वागत करें. भविष्य में किसी उचित अवसर पर राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण यज्ञ में सभी राम भक्तों को सम्मिलित होने का अवसर  मिले, यह प्रयास अवश्य होगा.’

बता दें कि इस कार्यक्रम बस वीआईपी लोगों को बुलाने की योजना है. सूत्रों के अनुसार, बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी जैसे बुजुर्ग नेताओं को कार्यक्रम में बुलाया जाएगा. इसके अलावा, राम मंदिर आंदोलन में सक्रिय रहीं उमा भारती, विनय कटियार, साध्वी ऋतंभरा आदि को भी आमंत्रित किया जाएगा. विश्व हिंदू परिषद  की ओर से आलोक कुमार और मिलिंद परांदे कार्यक्रम में रहेंगे. संघ  प्रमुख मोहन भागवत व अन्य वरिष्ठ नेता रहेंगे.

गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को भी न्योता दिया जाएगा. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन होगा. अयोध्या के पांच से छह क्षेत्रों में बड़े स्क्रीन लगाए जाएंगे ताकि श्रद्धालु भी भूमि पूजन कार्यक्रम को देख सकें.

Tags: , ,

0 Comments

Leave a Comment

LATEST POSTS

महिलाओं की दिलचस्पी ऑनलाइन ट्रेडिंग बाज़ार (FX & CFD’s) में क्यों बढ़ने लगी?
Petrol Diesel Price: 18 दिन बाद महंगा हुआ डीजल
Delhi Property Tax Rates Likely To Go Up Marginally
इंडोनेशिया ने बढ़ाई भारत की मुश्किलें, अभी 10 फीसदी और महंगा होगा खाने का तेल
RELIANCE आज पेश करेगा अपने Q4 नतीजे
शेयर बाजार में गिरावट का दिन, सेंसेक्स-निफ्टी नुकसान में
Sensex 1,500 अंक तक गिरा, Nifty भी लुढ़ककर 17,000 के नीचे आया
IMF के ग्लोबल अनुमान घटाने से कच्चे तेल की कीमतों पर दबाव, 1950 डॉलर के नीचे आया सोना
Gold Silver Price: आज सोना हुआ सस्ता और चांदी हुई महंगी, ज्वैलरी बाजार में ये रहा सोने का रेट
Taiwan October Export orders Likely contracted Again, But at Slower Pace- Raeuters Poll
Celebrity Bhagyashree Presents Awards to Notable Personalities.
Arun Kumar Saini ने लिखी कामयाबी की नई इबारत, Capital Sands ने लगाई ऊंची छलांग