Wednesday, May 29, 2024

 भारत सरकर ने भले ही कोरोनावायरस संक्रमण के दौरान लागू की गई पाबंदिया हटा ली हैं लेकिन चीन में इस वक्त हाहाकार मचा हुआ है। चीन के शहर शंघाई में Omicron वेरिएंट का कहर तेजी से बढ़ रहा है। लिहाजा चीन की सरकार शंघाई में फुल लॉकडाउन लगा रही है। हैरानी की बात है कि शंघाई में फिलहाल संक्रमण के मामले कोरोनावायरस संक्रमण के शुरुआती दिनों से कहीं ज्यादा बढ़ चुके हैं।

शंघाई, चीन के सबसे बड़े शहरों में से एक है। ऐसे में चीन की सरकार तमाम कोशिश कर रही है कि संक्रमण को देशभर में फैलने से रोका जा सके। इसके लिए शंघाई के पूर्वी इलाके में सोमवार से शुक्रवार तक फुल लॉकडाउन लगा दिया गया है। जबकि शहर के पश्चिमी इलाके में 1 अप्रैल से लॉकडाउन लगाया जाएगा।

शंघाई की कुल आबादी 2.50 करोड़ है। यहां मार्च की शुरुआत से केस बढ़ने लगे थे और अब यह Omicron वेरिएंट का Hotspot बन चुका है। रविवार को शंघाई में रिकॉर्ड 3,450 नए मामले सामने आए हैं। यह देश के कुल केस का करीब 70% है। इनमें से 50% मामलों में संक्रमण के लक्षण साफ नजर आ रहे हैं।

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने रविवार को 4,500 से ज्यादा नए घरेलू मामलों की जानकारी दी। यह एक दिन पहले के मुकाबले 1,000 कम है। चीन के वुहान शहर में पहला केस 2019 के अंत में आया था। अगर संक्रमण के पहले हफ्ते को छोड़ दें तो चीन में अब केस ज्यादा तेजी से बढ़ रहे हैं।

Tags: , , ,

0 Comments

Leave a Comment

LATEST POSTS

सोना-चांदी के दाम में आई बड़ी गिरावट
इंडोनेशिया ने बढ़ाई भारत की मुश्किलें, अभी 10 फीसदी और महंगा होगा खाने का तेल
Share Price में हेराफेरी! SEBI ने 85 कंपनियों को शेयर मार्केट से ट्रेडिंग पर लगाया बैन
Arun Kumar Saini ने लिखी कामयाबी की नई इबारत, Capital Sands ने लगाई ऊंची छलांग
शेयर बाजार में गिरावट का दिन, सेंसेक्स-निफ्टी नुकसान में
IMF के ग्लोबल अनुमान घटाने से कच्चे तेल की कीमतों पर दबाव, 1950 डॉलर के नीचे आया सोना
Taiwan October Export orders Likely contracted Again, But at Slower Pace- Raeuters Poll
कोरोना की वजह से देश का लक्जरी कार बाजार 5-7 साल पीछे हुआ
Delhi Property Tax Rates Likely To Go Up Marginally
महिलाओं की दिलचस्पी ऑनलाइन ट्रेडिंग बाज़ार (FX & CFD’s) में क्यों बढ़ने लगी?
RELIANCE आज पेश करेगा अपने Q4 नतीजे
Sensex 1,500 अंक तक गिरा, Nifty भी लुढ़ककर 17,000 के नीचे आया