Monday, May 20, 2024

सूत्रों के हवाले से खबर मिल रही है कि सचिन पायलट और बागी विधायक में कुछ लोग गांधी परिवार से मिलने की योजना बना रहे हैं और कहा जा रहा है कि इस मुलाकात में कड़वाहट मिटने की कोशिश की जाएगी. हालांकि इस बात से सचिन पायलट का खेमा मुकर रहा है और साफ कहना है कि उनका मुख्य लक्ष्य अशोक गहलोत को मुख्यमंत्री के पद से हटाना है.  उधर राजस्थान में सरकार बचाने की कोशिश में जुटे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की लड़ाई अब अंतिम पड़ाव की ओर पहुंच गई है. 14 अगस्त को विधानसभा सत्र बुलाया गया है जहां विश्वास मत की तैयारी है. लेकिन इससे पहले विधायकों को तोड़ने की आशंका भी जताई जा रही है. यह डर न सिर्फ कांग्रेस को बल्कि बीजेपी को भी सताने लगा है. यही वजह है कि उसके 6 विधायक गुजरात में देखे गए हैं. वहीं कांग्रेस ने अपने विधायकों को जैसलमेर भेज दिया है. इससे पहले उन्हें काफी दिनों तक जयपुर के एक होटल में ठहराया गया है. उधर बागी विधायकों के सामने भी शर्तें रखी गई हैं कि अगर वे मान लेते हैं तो उनको दोबारा शामिल करने पर विचार किया जा सकता है. इस पूरी कवायद के बीच रविवार को जैसलमेर में सीएम अशोक गहलोत ने विधायक दल की बैठक को संबोधित किया है.

उनका अंदाज एक सेनापति की तरह था जो निर्णायक युद्ध की तरफ जाने को  तैयार है. उन्होंने विधायकों को संबोधित करते हुए कहा कि सदन में सभी को एकता दिखानी है. हम सभी ‘लोकतंत्रिक योद्धा’ हैं. मुख्यमंत्री गहलोत ने आगे कहा, ‘हम इस लड़ाई को जीतने जा रहे हैं और साढ़े तीन साल बाद होने जा रहे विधानसभा चुनाव भी जीतेंगे. जिस तरह अभी तक आपने एकता दिखाई है उसी तरह सदन में एकता दिखाना है.’ गौरतलब है कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार सचिन पायलट की अगुवाई में 18 विधायकों बगावत का सामना कर रही है. जिसके बाद माना जा रहा है कि राज्य सरकार संकट में है. लेकिन सीएम अशोक गहलोत ने 14 अगस्त को विधानसभा सत्र बुला लिया है. माना जा रहा है कि इस दौरान वह विश्वास मत ला सकते हैं.

इससे पहले गहलोत ने अपने सभी विधायकों से कहा है कि वह अपने-अपने क्षेत्र में जाकर जनता की कल्याण के लिए उठाए गए कदमों की लिस्ट लोगों को सौपें साथ ही ये भी बताएं कि इन पर आगे भी काम होगा. विधायक दल की बैठक में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह दोस्तारा, अजय माकन, रणदीप सिंह सुरजेवाला भी मौजूद थे. इस मौके पर कांग्रेस महासचिव ने कहा कि कांग्रेस का इतिहास तो आजादी से पहले से ही संघर्ष का रहा है. उन्होंने दूसरी पार्टियों के विधायकों का भी धन्यवाद दिया जो इस संकट में साथ खड़े हैं.

Tags: , ,

0 Comments

Leave a Comment

LATEST POSTS

IMF के ग्लोबल अनुमान घटाने से कच्चे तेल की कीमतों पर दबाव, 1950 डॉलर के नीचे आया सोना
Dubai 22K gold price touches Dh200 a gram for first time in nine years
सोना-चांदी के दाम में आई बड़ी गिरावट
इंडोनेशिया ने बढ़ाई भारत की मुश्किलें, अभी 10 फीसदी और महंगा होगा खाने का तेल
Sensex 1,500 अंक तक गिरा, Nifty भी लुढ़ककर 17,000 के नीचे आया
Delhi Property Tax Rates Likely To Go Up Marginally
Gold Silver Price: आज सोना हुआ सस्ता और चांदी हुई महंगी, ज्वैलरी बाजार में ये रहा सोने का रेट
Dollar Consolidates, Still in Demand
शेयर बाजार में गिरावट का दिन, सेंसेक्स-निफ्टी नुकसान में
Arun Kumar Saini ने लिखी कामयाबी की नई इबारत, Capital Sands ने लगाई ऊंची छलांग
Petrol Diesel Price: 18 दिन बाद महंगा हुआ डीजल
Share Price में हेराफेरी! SEBI ने 85 कंपनियों को शेयर मार्केट से ट्रेडिंग पर लगाया बैन