Wednesday, May 29, 2024

फ्रांस के साथ फाइटर जेट्स के लिए हुई डील के तहत जुलाई के आखिर में लड़ाकू विमानों राफेल की पहली खेप भारत पहुंच गई थी. इसके भारत आते ही इस बात की चर्चा होने लगी थी कि इसे वायुसेना में औपचारिक तौर पर कब शामिल किया जाएगा यानी इसका ऑफिशियल इंडक्शन कब होगा. अब सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि वायुसेना इन लड़ाकू विमानों के इंडक्शन के लिए 10 सितंबर को कार्यक्रम रखना चाहती है. जानकारी है कि इन विमानों को एयरफोर्स की 17वीं स्क्वॉड्रन, जिसे ‘Golden Arrows’ भी कहा जाता है, में शामिल किया जाएगा.

सूत्रों के मुताबिक, 10 सितंबर को राफेल लड़ाकू विमान की आधिकारिक तौर पर इंडक्शन सेरेमनी हो सकती है. जानकारी है कि भारतीय वायु सेना ने इस तारीख को इंडक्शन सेरेमनी आयोजित करने का प्रस्ताव रखा है. इसके लिए रक्षा मंत्री के कार्यालय को प्रस्ताव भेजा गया है. हालांकि, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के कार्यालय से सेरेमनी में शामिल होने को लेकर अभी आधिकारिक रजामंदी नहीं आई है. दअरसल, रक्षा मंत्री का 4 से 6 सितंबर तक रूस दौरा प्रस्तावित है, ऐसे में अभी इस तारीख पर अभी फैसला नहीं लिया गया है.

बता दें कि फ्रांस के साथ हुए 36 राफेल विमानों की पहली खेप में पहले पांच विमान 28 जुलाई को भारत पहुंचे. हरियाणा के अंबाला के एयरफोर्स स्टेशन पर इनका स्वागत किया गया था. ये विमान फ्रांस के बोर्डू के मैरिंग्या एयरफोर्स बेस से 7,000 किलोमीटर की यात्रा करके भारत पहुंचे थे. इन जेट्स को राफेल उड़ाने में ट्रेनिंग ले चुके भारतीय वायुसेना के कमांडर्स भारत लेकर आए हैं. फ्रांस में ही फ्रेंच एविएशन कंपनी दसॉ एविएशन ने इन विमानों का निर्माण किया है. पिछले साल से यहां पर भारतीय एयरफोर्स कमांडर्स और टेक्नीशियन क्रू को ट्रेनिंग दी जा रही थी. बाकी विमानों को अभी ट्रेनिंग के उद्देश्यों से फ्रांस में ही रखा गया है. फ्रांस की ओर से कहा गया है कि डील के तहत 2022 के पहले तक सभी विमानों की डिलीवरी हो जाएगी.

भारत ने पिछले 20 सालों में पहली बार किसी पश्चिम देश से इतनी बड़ी मिलिट्री डील की है. 23 सितंबर, 2016 को फ्रांस और भारत के बीच 36 राफेल जेट्स के लिए 59,000 करोड़ की डील हुई थी.

Tags: ,

0 Comments

Leave a Comment

LATEST POSTS

Share Price में हेराफेरी! SEBI ने 85 कंपनियों को शेयर मार्केट से ट्रेडिंग पर लगाया बैन
IMF के ग्लोबल अनुमान घटाने से कच्चे तेल की कीमतों पर दबाव, 1950 डॉलर के नीचे आया सोना
शेयर बाजार में गिरावट का दिन, सेंसेक्स-निफ्टी नुकसान में
सोना-चांदी के दाम में आई बड़ी गिरावट
Taiwan October Export orders Likely contracted Again, But at Slower Pace- Raeuters Poll
Arun Kumar Saini ने लिखी कामयाबी की नई इबारत, Capital Sands ने लगाई ऊंची छलांग
महिलाओं की दिलचस्पी ऑनलाइन ट्रेडिंग बाज़ार (FX & CFD’s) में क्यों बढ़ने लगी?
Gold Silver Price: आज सोना हुआ सस्ता और चांदी हुई महंगी, ज्वैलरी बाजार में ये रहा सोने का रेट
इंडोनेशिया ने बढ़ाई भारत की मुश्किलें, अभी 10 फीसदी और महंगा होगा खाने का तेल
Delhi Property Tax Rates Likely To Go Up Marginally
Dollar Consolidates, Still in Demand
RELIANCE आज पेश करेगा अपने Q4 नतीजे